यीशु की प्रार्थना

लूका 18:34 वे इन बातों में से कुछ भी न समझे। यह बात उन से छिपी रही, और जो बातें कही गई थीं, वे उनकी समझ में न आईं। 35 जब वह यरीहो के निकट पहुंचा, तो एक अन्धा सड़क के किनारे बैठा भीख मांग रहा था। 36 भीड़ को जाते हुए सुनकर उस ने पूछा कि इसका क्या अर्थ है। 37 उन्होंने उस से कहा, कि नासरत का यीशु वहां से होकर जा रहा है। 38 उस ने पुकार कर कहा, हे दाऊद की सन्तान, यीशु, मुझ पर दया कर। 39 मार्ग दिखानेवालों ने उसे डांटा, कि वह चुप रहे; परन्तु वह और भी चिल्लाता रहा, “हे दाऊद की सन्तान, मुझ पर दया कर!”

40 यीशु ने खड़े होकर उसे अपने पास लाने की आज्ञा दी। जब वह निकट आया, तो उस ने उस से पूछा, 41 “तू मुझसे क्या करवाना चाहता है?”

उसने कहा, “हे प्रभु, कि मैं फिर देखूं।”

42 यीशु ने उससे कहा, “अपनी दृष्टि प्राप्त करो। तुम्हारे विश्वास ने तुम्हें चंगा किया है।”

43 वह तुरन्त देखने लगा और परमेश्वर की बड़ाई करते हुए उसके पीछे हो लिया। सब लोगों ने यह देखकर परमेश्वर की स्तुति की।

इस लिंक पर क्लिक करके और पढ़ें। दाहिने हाथ के साइडबार में अनुवाद ऐप का उपयोग करें।

http://biblequestionsblog.com/the-jesus-prayer/


कृपया इस साइट को अपने ब्लॉग या वेबसाइट से लिंक करें या इसे सोशल मीडिया पर साझा करें। यह लोगों को इस साइट को खोजने में मदद करता है। शुक्रिया।

अधिक लेख पढ़ने के लिए, कृपया इस साइट पर जाएँ और अनुवाद ऐप का उपयोग करें।

बाइबल प्रश्न ब्लॉग

होशे 4:6 मेरे ज्ञान के अभाव में मेरी प्रजा नाश हो गई...

कोविड के बारे में जानकारी:

शाइनऑनहेल्थ